आंस्मा तक जा पहुंची शिक्षा की उड़ान -डबरा का आवासीय विद्यालय | एक नाम जो सेवा का पर्याय बना – विष्णु कुमार जी | स्वयंसेवकों के साहस के सामने भीषण आग ने किया समर्पण - दामूनगर त्रासदी

सेवागाथा - संघ के सेवाविभाग की नई वेबसाइट

परिवर्तन यात्रा

आस्ट्रेलिया जाने से पहले सोनू अपने कोच के साथ

कर लिया जहां मुठ्ठी में

विजयलक्ष्मी सिंह

तेज झटके के साथ जैसे ही एयरपोर्ट रनवे से हवाई जहाज़ आसमान की ओर उठा , पहली बार हवाई यात्रा कर रहे सोनू को थोड़ा डर सा लगा । एक अजीब सी सिहरन उसे रीढ़ में दौड़ती महसूस हुई। मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के छोटे से गांव सिरौल का यह होनहार बालक आज भारत की बेस बॉल टीम के लिए खेलने ऑस्ट्रेलिया जा रहा था ।बादल

और जानिये

समर्पित जीवन

एक नाम जो सेवा का पर्याय बना – विष्णु कुमार जी

श्याम परांडे

50 के दशक में शुगर टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की डिग्री , हिंदुस्तान एयरक्राफ्ट लिमिटेड का ज्वाइनिंग लैटर 23 बरस के एक युवक के लिए करियर की शुरुआत इससे बेहतर और क्या हो सकती थी | पर शायद बैंगलौर से 90 किलोमीटर दूर अक्कीरामपुर के

और जानिये

सेवादूत

और स्वयंसेवकों के साहस के आगे भीषण आग ने भी कर दिया समर्पण

अंबरीष पाठक

भीषण आग की लपटें - और चारों ओर बस त्राहि-माम। दृष्टि जहॉ तक जा सकती थी, वहॉ तक था, बस दम घोंटू धुऑ और बरसते आग के शोले। मृत्यु के इस तांडव के बीच फंसी इंसानी जिन्दगी चीख-पुकार मचाती बेबस सी नज़र आ रही थी। हर बीतते क्षण के साथ आग और अधिक वेग के साथ ऐसा विकराल रूप ले रहीं थीं मानों आसपास इंसानी रिहायश का जो भी चिन्ह मौजूद हो उसे राख में बदल देने से अतिरिक्त इस प्रचंड अग्नि को कुछ भी स्वीकार्य नहीं होगा। 07, दिसंबर 2014 की दोपहर मुंबई के कांदिवली इलाके की दामूनगर बस्ती पर कहर बन कर टूटी थी। गैस सिलेंण्डर में लगी आग ने देखते ही देखते पूरी बस्ती को अपनी ज़द में ले लिया था।

और जानिये